Message from Director’s desk…..
We always understand business by profit, return of investment or some other numbers. People believe that numbers drive emotion. But, I personally and strongly believe that it’s emotion who drive numbers.

I, being a daughter of Mithila, truly understand the emotion of people who are residents of and/or travelling in Mithila. I just want to put their emotions into action.

Well!! If you feel that “SAVARI Mithila Ki” is a service company which will provide transport service to people, you are not wrong but, you are also not right either.

Now-a-days travelling is not only a mean to reach your destination. It’s an experience and feeling before reaching somewhere. We are here to make this feeling a happy, safe, and memorable for our guests. Afterall, your comfort is our culture.

It’s in culture of our Mithila to treat our guests like God and to take the best care of them. The same culture also teaches us about real love, care and compassion for our friends and family. Giving an opportunity to our people of Mithila to earn and grow through maintaining this legacy of service is a real love for this land from my side.

Let’s join hands and hearts to make this place a great place to live……a great place to grow and a great place to work”.

Regards,
Shweta Kiran,
Founder & Director

नियोजक की ओर से संवाद:

हमलोग हमेशा ही बिजनेस को मुनाफा, निवेश का रिटर्न्स या किसी और नंबर के माध्यम से समझते रहे है। लोगो का ये विश्वास है कि इंसान की भावनाएं किसी बिजनेस के नंबर से संचालित होती है। परंतु मेरा ये व्यक्तिगत एवं धृढ़ विश्वास है कि हमारी भावनाओं से ये सारे नंबर प्रभावित होते है।

मिथिला की बेटी होने के नाते मैं मिथिला में रहने वाले और मिथिला दर्शन करने वाले लोगो की भावनाओं को गहराई से समझती हूं। मैं सिर्फ उनकी भावनाओं को एक दिशा देना चाहती हूं।

अगर आपको ऐसा लगता है कि
“सवारी मिथिला की” एक सेवा प्रदान करने वाली कंपनी है जो लोगो को यातायात एवं परिवहन संबंधित सुविधा मुहैया करवाएगी तो आप ग़लत नहीं है। लेकिन दूसरी ओर आप पूरी तरह सही भी नहीं हैं।

आज की दुनिया में यात्रा करना केवल मंज़िल तक पहुंचने का जरिया नहीं हैं। यह एक अनुभव है और किसी गंतव्य स्थान तक पहुंचने की भावना है। इसी अनुभव एवं भाव को सभी अतिथियों (ग्राहको) के लिए सुखद, सुरक्षित और यादगार बनाने के लिए हम अग्रसर है। जैसा कि आप जानते है कि आपकी सुविधा ही हमारा लक्ष्य है।

मिथिला की संस्कृति एवं इतिहास में अतिथियों को भगवान माना जाता रहा है और उनकी दिल से सेवा की जाती रही है। यही संस्कृति हमे अपने परिवार और प्रियजनों के लिए सच्चा प्रेम, सेवा और सद्भावना भी सिखाती है। सदियों से चली आ रही ऐसी ही सेवा के माध्यम से हमारे मिथिला के लोगो को उन्नति और विकास का अवसर प्रदान करना ही इस भूमि के लिए मेरा सच्चा प्रेम एवं श्रद्धांजलि है।

तो आइये…एक दूसरे का साथ देकर और एक दूसरे के साथ दिल से जुड़कर इस क्षेत्र को सबके रहने, काम करने, विकास एवं उन्नति करने के लिए एक महान क्षेत्र बनाए!!

आपकी आभारी
श्वेता किरन,
नियोजक एवं प्रबंधक
सवारी मिथिला की